Homeपटनागुजरात में कल से 3 दिनों का स्वास्थ्य चिंतन शिविर, मंगल पांडे...

गुजरात में कल से 3 दिनों का स्वास्थ्य चिंतन शिविर, मंगल पांडे बोले-पीएम मोदी के विजन पर होगी चर्चा

- Advertisement -

दिल्ली/पटना. गुजरात के नर्मदा जिले के केवडिया में 5 मई से 3 दिनों का स्वास्थ्य चिंतन शिविर हो रहा है. इसमें देश के सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री हिस्सा लेंगे. इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री भी मौजूद होंगे. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे भी इस बैठक में हिस्सा लेने जाएंगे. उन्होंने कहा कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा स्वास्थ्य चिंतन शिविर का आयोजन हुआ है. सामान्य तौर पर यह एक दिन की बैठक देश के सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों की होती रही है और उसमें भविष्य की संपूर्ण योजनाओं पर चर्चा नहीं हो पाती थी. इस बार स्वास्थ्य मंत्री मनसुख भाई मंडविया ने 3 दिनों का देश के सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों का स्वास्थ्य चिंतन शिविर आयोजित किया है. जिसमें जो देश के विभिन्न राज्यों में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य का प्रेजेंटेशन होगा. जिससे एक राज्य दूसरे राज्य से बेस्ट प्रैक्टिसेज को देख सके समझ सकें और आवश्यकतानुसार अपने यहां इंप्लीमेंट कर सकें.

ट्रेन्डिंग खबर :   अवैध खनन मामले में ED की बड़ी कार्रवाई, झारखंड की महिला IAS के आवास समेत 18 ठिकानों पर छापेमारी

मंगल पांडे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच है कि सुदूर गांव तक स्वास्थ्य सुविधाओं और व्यवस्थाओं को बेहतर तरीके से पहुंचाया जाए. उस पर भी इस चिंतन शिविर में विस्तार से चर्चा होगी. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोविड रिस्पॉंस पैकेज -2, में कैसे कार्य हो रहा है जो 15वें वित्त आयोग से पैसा अलग-अलग राज्यों में इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए जा रहा है, उसमें कैसे काम हो रहे हैं, हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर में डायग्नोस्टिक बहुत बड़ा विषय होता है और डायग्नोस्टिक को बहुत सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों तक कैसे किया जाए इस संबंध में भी इस बैठक में चर्चा होगी.

उन्होंने कहा कि जो आधारभूत संरचना है उनका विस्तार कैसे हो और किसी भी विपरीत परिस्थिति में या महामारी की स्थिति में स्वास्थ्य महकमा लड़ने के लिए विभिन्न राज्यों में कैसे तैयार रहें, भविष्य की कार्ययोजना कैसी हो इस पर भी चर्चा होगी. कई राज्यों में नए-नए प्रयोग हुए हैं उनकी भी चर्चा होगी और आजकल किसी भी व्यवस्था और प्रबंधन को बेहतर करने के लिए तकनीक का प्रयोग किया जाता है संपूर्ण स्वास्थ्य व्यवस्था को कैसे तकनीक आधारित कर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं इस पर भी चर्चा होगी.

ट्रेन्डिंग खबर :   जमुई में बीच सड़क 'साहब' के ड्राइवर का हंगामा, SBI में काम करने वाले युवक पर चलाया डंडा

उन्होंने कहा कि टेलीमेडिसिन एक बड़ा कार्य है उस पर भी चर्चा होगी और कुल मिलाकर 3 दिनों का स्वास्थ्य चिंतन शिविर होगा विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के द्वारा केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा, नीति आयोग के अधिकारियों द्वारा, जो संपूर्ण विचार आएंगे, आगे देश के स्वास्थ विभाग की कार्य योजना में इससे फायदा होगा और महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त होगा, इससे आगे की कार्ययोजना बनाने में सफलता मिलेगी.

Tags: Bihar News, Mangal Pandey, PATNA NEWS

न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here