Homeपटनाजदयू-भाजपा की अलग सोच! कॉमन सिविल कोड के बाद अब CAA पर...

जदयू-भाजपा की अलग सोच! कॉमन सिविल कोड के बाद अब CAA पर बिहार NDA में बढ़ी तकरार 

- Advertisement -

पटना. बिहार में कॉमन सिविल कोड का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि CAA के मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल में दिए एक बयान के बाद बिहार की सियासत गर्म हो गई है. अमित शाह ने बंगाल में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि नागरिकता संशोधन कानून यानी Citizenship Amendment Act-CAA को हर हाल में लागू किया जाएगा. उन्होंने गुरुवार को सिलीगुड़ी की एक रैली में कहा कि सीएए को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अफवाह फैला रही हैं कि CAA सब पर लागू नहीं होगा. हम CAA को हर हाल में लागू करेंगे.

अमित शाह ने कहा कि जैसे ही कोरोना की लहर कम होती है CAA पर काम शुरू हो जाएगा. अमित शाह ने स्पष्ट कहा है कि CAA केंद्र के एजेंडे में है और इसे हर हाल में पूरा किया जाएगा. अमित शाह के इसी बयान के बाद बिहार की सियासत भी अचानक से गर्मा गई जब बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता और गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार ने न्यूज 18 से बातचीत करते हुए कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने बिल्कुल सही कहा है और ये मामला देश हित से जुड़ा हुआ है. ये हमारे एजेंडे में भी है. जब गृह मंत्री अमित शाह ने कह दिया तो इसे देश में लागू होना ही चाहिए. हमारा एक ही उद्देश्य है एक भारत, श्रेष्ठ भारत. बिहार में भी इसे लागू होना चाहिए.

ट्रेन्डिंग खबर :   भोजपुरी गानों में जाति का जिक्र किया तो ख़ैर नहीं, नीतीश सरकार के मंत्री ने दी चेतावनी

हालांकि, जदयू CAA को बिहार में लागू करने के भाजपा मंत्री की मांग का विरोध किया है. JDU के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि बिहार में CAA लागू करने का सवाल ही नहीं उठता है, ये हमारे एजेंडे में ही नहीं है. इसके पहले भी बिहार में जब ये मामला उठा था उसी वक्त मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस पर एतराज़ जताते हुए विरोध कर दिया था और आज भी हमारा स्टैंड वही है. दूसरी ओर JDU के CAA पर विरोध करने पर मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि समय के साथ-साथ बहुत कुछ बदल जाता है. समय के साथ समझौता भी होता है, वो समय आने दीजिए सब हो जाएगा.

ट्रेन्डिंग खबर :   प्रशांत किशोर के मास्टर स्ट्रोक से बिहार में किसका गिरेगा विकेट! किस पार्टी में ज्यादा बेचैनी है?

दरअसल बिहार में भाजपा काफ़ी पहले से CAA लागू करने की मांग करती आई है. खासकर सीमांचल से होने वाले घुसपैठ के मुद्दे को भाजपा काफी प्रमुखता से उठाती रही है और अवैध बांग्लादेशी का मामला भी प्रमुखता से उठाया है. अब जब अमित शाह ने इस मुद्दे को उठाया है तो बिहार भाजपा के नेताओं ने अपने सुर फिर से तेज कर दिए हैं. वहीं जदयू के लिए एक और ऐसा मुद्दा आ गया है जिसके चलते भाजपा से विवाद बढ़ सकता है.

Tags: Bihar News, PATNA NEWS

न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here