Homeपटनाबिहार में PM आवास योजना में बड़ा घोटाला, 24 घंटे में ही...

बिहार में PM आवास योजना में बड़ा घोटाला, 24 घंटे में ही बन गए दर्जनों मकान

- Advertisement -

वैशाली. गरीबों के लिए चलाई जा रही केंद्र सरकार की सबसे महत्वकांक्षी पीएम आवास योजना को वैशाली में अमीरों और दबंगो के साथ साथ घूसखोर पदाधिकारियों की नजर लग गई है. इसके चलते इस योजना का लाभ जरूरतमंद लोगों को नहीं बल्कि दबंग और अमीरों को मिलने लगा है. वैशाली जिले के चेहरकला प्रखंड से पीएम आवास योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार की ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसे देख कर आप भी चौंक जाएंगे.

वैशाली जिले में चंद पैसों के लिए 24 घण्टे में ही दर्जनों मकान बना दिये गये. हद तो यह है कि ना सिर्फ नींव से लेकर छत तक मकान बना बल्कि उसके रंगरोगन से लेकर बिजली का कनेक्शन भी एक दिन में ही दे दिया गया. यह हम नहीं कह रहे बल्कि भारत सरकार के पीएम आवास पोर्टल पर जानकारी देकर सरकारी कर्मियों ने खुद ही पीएम आवास योजना में धांधली का खुलासा कर दिया है. भ्र्ष्टाचार के इस मामले का खुलास उस वक्त हुआ जब एक आरटीआई एक्टिविस्ट देवेंद्र राय ने पूरी जानकारी मांगी. इसके बाद जो तस्वीर सामने आई वह हैरान करने वाली थी, लिहाजा अब आरटीआई कार्यकर्ता ने इसकी शिकायत डीएम से लेकर सीएम तक और सचिव से लेकर गवर्नर तक से कर दी है. वो अब कोर्ट में इस धांधली के खिलाफ जाने की तैयारी में हैं.

ट्रेन्डिंग खबर :   साले की शादी में ससुराल पहुंचे जीजा से जानलेवा मजाक, गर्म तेल की कड़ाही में डाला

भ्रष्टाचार के इस खेल में वर्तमान मुखिया से लेकर मुखिया प्रत्याशी और आवास सहायक से लेकर प्रखंड स्तर के कर्मचारी और अधिकारी तक शामिल हैं. आरटीआई एक्टिविस्ट ने इस प्रखंड के तीन पंचायत विशुनपुर अड़रा, चेहरकला और मंसूरपुर हलैया के 15 लाभुकों की जानकारी भारत सरकार के पोर्टल से निकाली है जिनका घर एक या दो दिन में बनकर तैयार हो गया है. चेहरकला पंचायत के मुखिया ब्रह्मदेव राय के भाई की पत्नी का घर जहां 24 घन्टे में बन गया तो वहीं हारे हुए मुखिया प्रत्याशी संजय कुमार यादव का 48 घण्टे में पीएम आवास का घर बनकर तैयार हो गया.

इस बाबत जब चेहरकला के बीडीओ कुमदु रंजन से पूछा गया तो उन्होंने कमिटी बनाकर जांच करने की बात कही. दरअसल लाभान्वितों ने किसी दूसरे या फिर अपना पहले से बने पक्का मकान के सामने फोटो खींचवा कर आवास सॉफ्टवेयर पर अपलोड करवा दिया. लूट खसोट और सरकारी राशि के बंदरबांट की तस्वीर के बाद इसी प्रखंड के चेहरकला पंचायत के यादव टोला के रहने वाले मनोज कुमार का नाम पीएम आवास योजना की सूची में 2019 में ही आ गया लेकिन अबतक आवास नहीं बना क्योंकि इन्होंने घुस में बीस हजार रुपये नहीं दिए.

ट्रेन्डिंग खबर :   विवाह का मंडप सज चुका था, शहनाइयां बज रही थीं, अचानक दुल्‍हन ने शादी से किया इनकार; बाराती संग बैरंग लौटा दूल्‍हा

तीन साल के अंदर पिता की मौत तो हो गई लेकिन आवास का इंतजार खत्म नहीं हुआ. बता दे कि बता दें कि पीएम आवास निर्माण के मामले में वैशाली राज्यस्तरीय सूची में आठवें पायदान पर है. फरवरी 2022 तक प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत वैशाली जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आवास निर्माण कार्य पूरा करने में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष 95.41 फीसदी उपलब्धि हासिल की गई थी. सरकारी आंकड़ों के अनुसार इस योजना के शुरू होने से अब तक जिले में कुल 97 हजार 538 आवास निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई.

Tags: PM Awas Yojana

न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here