Homeपटनाभोजपुरी गानों में जाति का जिक्र किया तो ख़ैर नहीं, नीतीश सरकार...

भोजपुरी गानों में जाति का जिक्र किया तो ख़ैर नहीं, नीतीश सरकार के मंत्री ने दी चेतावनी

- Advertisement -

पटना. भोजपुरी फिल्मों के स्टार पवन सिंह ने भोजपुरी में बन रहे गानों (Bhojpuri Songs) में जातियों का जिक्र किए जाने पर आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा कि ऐसे-ऐसे गाने बन रहे है जिसकी वजह से समाज पर खराब असर पड़ रहा है. पवन सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को पत्र लिख कर उनसे इसे रोकने के लिए कदम उठाने का आग्रह किया है. न्यूज़ 18 ने इस पर पहल की और तमाम राजनीतिक दलों के सामने यह मुद्दा उठाया और उनकी राय जाननी चाही तो लगभग सभी ने एक सुर में जातिसूचक गानों पर रोक लगाने की मांग की. वहीं, बिहार के कला एवं संस्कृति मंत्री आलोक रंजन झा ने स्पष्ट इशारा किया कि अगर उनके पास इस तरह का कोई मामला आता है तो वो ऐसे गानों पर प्रतिबंध लगाने की पूरी कोशिश करेंगे. साथ ही खुद मुख्यमंत्री से आग्रह कर इसे लागू करवाने का प्रयास करेंगे.

मंत्री आलोक रंजन झा इस तरह के गानों को समाज के लिए ठीक नहीं मानते हैं. वहीं, दूसरी तरफ  भोजपुरी कलाकारों और इन्हें गाने वाले गायकों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि अगर इस तरह के गाने बन रहे हैं और बजाए जा रहे हैं तो ऐसे गानों को गा क्यों रहे हैं कलाकार. अगर वो लोग ही इस तरह के जातिसूचक और अश्लील गाने से परहेज करें तो खुद-ब-खुद ऐसे गानों पर रोक लग जाएगी. लेकिन कई कलाकार अपनी TRP और फैन फॉलोइंग बढ़ाने के लिए ऐसे गानों को प्रोत्साहित करते हैं जिसकी वजह से ऐसे गाने बन रहे हैं. इसका समाज पर गलत असर पड़ रहा है.

ट्रेन्डिंग खबर :   दो देशों को आपस में जोड़ेगी पहली भारत गौरव टूरिस्‍ट ट्रेन ‘श्री रामायण यात्रा’

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रवक्ता शक्ति यादव ने कहा कि आज जाति और बंधन तोड़ने की कोशिश चल रही है. वहीं दूसरी तरफ जातिसूचक गाना बजने की वजह से बिहार का माहौल खराब होने की आशंका बढ़ जाएगी जो ठीक नहीं है. जल्द से जल्द ऐसे गानों पर प्रतिबंध लगाया जाए. वहीं, जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के प्रवक्ता निखिल मंडल कहते हैं कि फिल्में समाज का आईना होती हैं और अगर आईना जाति के चश्मे में डूबा रहेगा तो यह समाज के लिए खतरनाक हो जाएगा. इसलिए ऐसे जातिसूचक गानों पर जल्द प्रतिबंध लगाया जाए.

बिहार के समाजशास्त्र को समझने के लिए भोजपुरी में बनने वाले कुछ गानों की बानगी देखिये-

ट्रेन्डिंग खबर :   क्‍या होगी प्रशांत किशोर की 'राजनीतिक चाल'? कितना आसान है नीतीश और लालू सरीखे नेताओं को मात देना?

– आरा में चले ला अहिरान (यादव) के…
– यादव जी बना ल आपन बीवी…
– पांडे जी का बेटा हूं…
– अइलु दूबे जी के बारात में, काहे डरा लू नाच में…
– तिवारी जी का बेटा सपनवा में आता है…
– गोली चलेला बबुआन (राजपूत) के बारात में…
– टोला अहिरान (यादव) के रंगदारी चली बबुआन के…
– बबुआन (राजपूत) से बड़ बदमाश कौन ह…
– लवर हमार भूमिहार घराना के…
– लहंगा निहारतारे लाला (कायस्थ) जी…
– खानदानी भूमिहार AK-47…
– हमके मरदे चाहिले भूमिहार राजा जी…

जाहिर है जब राजनीतिक दल और उनके बड़े-बड़े नेता भगवान की जाति बताएंगे- ब्रह्मर्षि सम्मेलन, चंद्रवंशी सम्मेलन, कायस्थ सम्मेलन, क्षत्रिय और ब्राह्मण सम्मेलन करेंगे तो ऐसे-ऐसे ही गीत बजेंगे.

Tags: Bhojpuri Song, Bihar News in hindi, Bihar politics, CM Nitish Kumar, PATNA NEWS

न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here