Homeपटनामिट्टी के बर्तन में पानी और दाना लेकर पंछियों को गर्मी से...

मिट्टी के बर्तन में पानी और दाना लेकर पंछियों को गर्मी से बचा रहे युवा, आप भी शुरू कर दीजिए मुहिम!

- Advertisement -

जमुई. बिहार में इन दिनों बदन जला देने वाली गर्मी पड़ रही है. इंसान तो इंसान, पशु-पक्षी भी भीषण गर्मी से बेहाल नजर आते हैं. ऐसे में जमुई जिले के कुछ युवाओं ने पक्षियों को पानी पिलाने और दाना खिलाने की मुहिम शुरू की है, जिसकी चहुंओर तारीफ हो रही है. नौकरी और पढ़ाई से समय बचाकर ये युवा हर दिन किसी न किसी गांव या मोहल्ले में जाकर पक्षियों के लिए जल पात्र पेड़ पर टांग देते हैं या फिर सुरक्षित स्थान पर रख देते हैं. भीषण गर्मी में प्यासे पंछी परेशान न हों, इसलिए ये लोग मिट्टी के बर्तन में पानी और दाना जगह-जगह पेड़ पर टांग रहे हैं. जमुई के युवाओं की टोली खुद आगे बढ़कर यह काम तो कर ही रही है, वह गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक भी करती है, ताकि सभी लोग इस पर्यावरण मुहिम से जुड़ सकें.

जमुई में इस साल गर्मी, पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले ज्यादा महसूस की जा रही है. इतना कि जिले का तापमान लगभग 43 डिग्री सेल्सियस तक जा चुका है. इस कारण आम लोगों को भी पानी के लिए परेशान होना पड़ा. ऐसे में इन युवाओं को लगा कि पक्षियों के लिए भी कुछ करना चाहिए. इसी से पंछियों के लिए दाना-पानी जुटाने का ख्याल आया. फिर युवाओं की टोली ने यह मुहिम शुरू कर दी. पहले तो शहर के अलग-अलग जगहों पर पेड़ की टहनियों पर जलपात्र और दाने का बर्तन लटकाया गया. बाद में सरकारी भवनों की छतों पर भी जलपात्र और दाने वाले बर्तन रख दिए गए. शहर के स्कूल, कॉलेज और सरकारी भवनों के अलावा मुहिम के अगले चरण में युवाओं ने इस काम को गांवों तक ले जाने का फैसला किया. पिछले तीन सप्ताह से यह मुहिम चल रही है, जिससे अब आम लोग जुड़ते जा रहे हैं.

ट्रेन्डिंग खबर :   गुजरात में कल से 3 दिनों का स्वास्थ्य चिंतन शिविर, मंगल पांडे बोले-पीएम मोदी के विजन पर होगी चर्चा
जमुई के युवाओं की टोली हर दिन दो घंटे शहर और गांवों में जाकर लोगों को इस दाना-पानी मुहिम के प्रति जागरूक भी करती है.

सुबह-सुबह करते हैं काम

पंछियों को दाना-पानी मुहिम से जुड़े विवेक कुमार कहते हैं कि वे लोग अपना काम सुबह ही शुरू कर देते हैं. टोली का हर साथी पानी की बोतल लेकर आता है और हर दिन 2 घंटा अलग-अलग जगहों पर समय देते हैं. विवेक ने कहा कि जिन पात्रों में कोई पानी नहीं भर पाता, वहां हम लोग खुद जाकर भरते हैं. वैसे इन युवाओं को काम करते देख अब स्थानीय लोग भी आगे आ रहे हैं. लोग अपने घरों और छतों पर जल पात्र रख रहे हैं, ताकि चिड़ियों को गर्मी में दाना-पानी मिल सके.

ट्रेन्डिंग खबर :   बिहार को अगले दो दिन भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 10 जिलों में बारिश को लेकर अलर्ट जारी

पर्यावरण के लिए शुरू की मुहिम

युवाओं की टोली के संतोष कुमार ने बताया कि गर्मी में पंछियों को दाना-पानी देना न सिर्फ मानवता का काम है, बल्कि यह पर्यावरण और प्राकृतिक संतुलन के लिए भी जरूरी है. उन्होंने जमुई के लोगों से अपील की कि भीषण गर्मी में पशु-पक्षियों को बचाने के लिए आगे आएं और अपने घरों और सार्वजनिक स्थानों पर जल पात्र रखें.

Tags: Bihar News, Bird, Heat Wave, Water

न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here