Homeपटनामुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर छलका प्रशांत किशोर का दर्द, बोले- पिता-पुत्र...

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर छलका प्रशांत किशोर का दर्द, बोले- पिता-पुत्र जैसा था हमारा संबंध

- Advertisement -

पटना. चुनाव रणनीतिकार से सक्रिय राजनीति में कदम रखने के प्रयास में जुटे प्रशांत किशोर ने गुरुवार को कई मसलों पर अपना रुख स्‍पष्‍ट किया. राजनीतिक पार्टी का गठन करने से लेकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के साथ रिश्‍तों और जनता दल यूनाइटेड (JDU) से बाहर किए जाने तक के मुद्दों पर उन्‍होंने अपनी राय रखी. उन्‍होंने कहा कि नीतीश कुमार से उनका संबंध पिता-पुत्र जैसा था. वह जितने दिन भी नीतीश कुमार के साथ रहे, उनका मुख्‍यमंत्री से इसी तरह का रिश्‍ता रहा. बता दें कि प्रशांत किशोर वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार और लालू यादव को एक मंच पर लाने में सफल रहे थे. उस चुनाव में महागठबंधन ने प्रचंड बहुमत के साथ सत्‍ता में वापसी की थी.

प्रशांत किशोर ने कहा, ‘जितने दिन नीतीश कुमार और मैं साथ में रहे, हमारा संबंध पिता-पुत्र जैसा रहा. इसका मतलब यह नहीं है कि मैं उनसे अलग विचारधारा और सोच नहीं रख सकता.’ JDU से हटाने के मुद्दे पर पीके ने कहा, ‘मुझे CAA और NRC के मुद्दे पर पार्टी (जदयू) से हटाया गया. नीतीश जी की पार्टी और उन्‍होंने मुझे निकाल दिया था.’ उन्‍होंने आगे कहा कि बिहार के लिए कुछ बड़ा करने के लिए जीरो से शुरुआत करने की कोशिश करना चाहता हूं. यह कठिन है…आसान नहीं. बता दें कि वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को बड़ी जीत हासिल हुई थी. इसमें प्रशांत किशोर की बड़ी भूमिका मानी जाती है. इसके बाद पीके को जदयू में शामिल कर उन्‍हें पार्टी का राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष बनाया गया था. बाद में जेडीयू ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली और कुछ समय बाद प्रशांत क‍िशोर को पार्टी से निकाल दिया गया था.

ट्रेन्डिंग खबर :   तेजस्वी यादव के भूमिहार-ब्राह्मण प्रेम पर बरसे नीतीश सरकार के मंत्री, कहा- सत्ता के लिए अब सवर्णों से मांग रहे माफी

प्रशांत किशोर ने राजनीतिक पार्टी बनाने के लिए तय की शर्त, पश्चिम चंपारण से निकालेंगे 3000 KM लंबी पदयात्रा 

लालू यादव पर तंज
प्रशांत किशोर ने लगे हाथ पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव और मौजूदा मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसने से भी नहीं चूके. दरअसल, लालू यादव और नीतीश कुमार द्वारा तवज्‍जो न देने के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि ये दोनों बिहार ही नहीं, बल्कि देश के बड़े नेता हैं. ऐसे में ये मुझे क्‍यों तवज्‍जों देंगे. इसके साथ ही प्रशांत किशोर ने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को 7 निश्‍चय योजनाओं पर श्‍वेत पत्र लाना चाहिए. सात निश्‍चय क्‍यों पूरा नहीं हुआ, उन्‍हें लोगों को यह बताना चाहिए. प्रशांत किशोर ने कहा कि उन्‍होंने लागों से बात कर के सात निश्‍चय तय किया था. इसे लागू करने का काम सरकार का है.

ट्रेन्डिंग खबर :   प्रशांत किशोर के मास्टर स्ट्रोक से बिहार में किसका गिरेगा विकेट! किस पार्टी में ज्यादा बेचैनी है?

Tags: Chief Minister Nitish Kumar, Prashant Kishor

न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here