Homeपटनासालों से नहीं निकाला वेतन फिर भी बनाई करोड़ों की संपत्ति, हवाई...

सालों से नहीं निकाला वेतन फिर भी बनाई करोड़ों की संपत्ति, हवाई यात्रा और जमीन खरीदने के शौकीन हैं ये अफसर

- Advertisement -

पटना. बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार की भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी रही है. यही कारण है कि भ्रष्टाचार के बल पर अकूत  संपत्ति अर्जित कर धनकुबेर बने अफसरों की अब खैर नहीं रह गई है. बालू के अवैध उत्खनन का मामला हो या फिर भ्रष्टाचार के दूसरे माध्यमों से अकूत संपत्ति अर्जित करने का एजेंसियां लगातार कार्रवाई कर रही हैं. भ्रष्ट अफसरों के लगातार पसीने छूट रहे हैं. शुक्रवार को एक बार फिर से आर्थिक अपराध इकाई और स्पेशल विजलेंस यूनिट की टीम ने दो अलग-अलग अफसरों के ठिकानों पर छापेमारी की है.

स्पेशल विजिलेंस यूनिट की टीम ने सहरसा के जेल अधीक्षक सुरेश चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी कर अकूत संपत्ति का पता लगाया है. चार करोड़ से अधिक कीमत का आलीशान मकान और करोडो़ं की अवैध संपत्ति के मालिक सहरसा के जेल सुपरिटेंडेंट सुरेश चौधरी पिछले कई सालों से वेतन का एक पैसा भी खर्च नहीं कर रहे थे. उनके खाते में जाने वाला पैसा निकल ही नहीं रहा था. शुक्रवार को एसवीयू ने मुजफ्फरपुर स्थित चौधरी के आवास और सहरसा में दफ्तर पर एक साथ छापेमारी की.

ट्रेन्डिंग खबर :   नीट पीजी काउंसलिंग में फर्जीवाड़ा पकड़ा, सीट ब्लॉक करने का प्रयास, 4 आवेदक गिरफ्तार

तलाशी के दौरान मिलने वाली सम्पत्ति उनकी आय से लगभग चार गुना से भी अधिक है. एसवीयू के अपर पुलिस महानिदेशक नय्यर हसनैन खान ने बताया कि फाइनल रिपोर्ट आने पर चौधरी की संपत्ति का आंकड़ा ऊपर जा सकता है. सुरेश चौधरी के मुजफ्फरपुर के आवास और सहरसा कार्यालय पर छापेमारी में  दो आलीशान भवनों  का पता चला हैं, जिनकी की कीमत 4 करोड़ से अधिक बताई जा रही है. इसके अलावा 17 लाख  रुपए बैंक में जमा  हैं. मुजफ्फरपुर के पीएनबी बैंक में भी 3 लाख जमा होने की भी  जानकारी मिली है.

स्पेशल विजिलेंस यूनिट की टीम ने जेल सुपरीटेंडेंट के आवास से जमीन और प्लॉट के 15 डीड जब्त किए हैं. इसमें तीन करोड़ रुपए से अधिक की राशि निवेश की गई है. इस बात की भी जानकारी मिली है कि जेल सुपरिटेंडेंट ने पिछले 1 साल से अपना वेतन तक नहीं छुआ है. हवाई यात्राओं के शौकीन जेल सुपरिटेंडेंट ने केवल अपनी यात्राओं पर अथाह रुपए फूंक डाले हैं.

ट्रेन्डिंग खबर :   7 जून से महात्मा गांधी सेतु के पूर्वी लेन पर भी फर्राटा भरेंगी गाड़ियां, Exclusive Video देखिये

उधर बालू के अवैध खनन मामले में आरोपों के घेरे में आए बिहटा के तत्कालीन थानाध्यक्ष अवधेश झा के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान आय से अधिक 83% संपत्ति अर्जित करने के साक्ष्य मिले हैं. अवधेश झा ने लाखों रुपए बैंक और वित्तीय संस्थानों में भ्रष्ट तरीके से जमा किए हैं. पत्नी और मां के नाम पर पटना के दानापुर ,विक्रम और मुजफ्फरपुर में 5 भूखंडों की जानकारी मिली है. जमीन की खरीदारी में अवधेश झा ने 59 लाख रुपए से अधिक खर्च किया है जिसके साक्ष्य आर्थिक अपराध इकाई की टीम को मिले हैं.

Tags: Bihar news today, Crime News, Vigilance Raid

© न्यूज 18

- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here