39.6 C
Khagaria
Monday, April 15, 2024
राजस्थान सेल्स एसोसिएशन का वार्षिक उत्सव व् प्रीतिभोज समारोह का भव्य आयोजन सम्पन्न कोसी महाविद्यालय में भीमराव अंबेडकर जयंती बनाया गया उत्तरी पुबी दिल्ली में कन्हैया-मनोज तिवारी आमने-सामने, दिल्ली-बिहार में रोचक चुनाव, पुर्णिया बना केन... जिला पदाधिकारी श्रीमती अलंकृता पांडे द्वारा अंबेडकर जयंती के अवसर पर अंबेडकर चौक पर बाबा साहेब डॉ० भ... मध्य विद्यालय मांदिल में मनाई गई बाबा साहब की जयंती गायत्री परिवार जहानाबाद 150वें रविवासरीय साप्ताहिक वृक्षारोपण कार्यक्रम  अंबेडकर जयंती पर धाकड़ समाज ने किया रक्तदान शिविर का आयोजन भीमराव अंबेडकर की 133 वीं जयंती पर पदाधिकारी पुलिस अधिकारी तथा अन्य अधिकारियों द्वारा माल्यार्पण करत... भारत रत्न बाबा साहब डा० भीमराव अम्बेडकर की जंयती मनाई गई राजद जिलाध्यक्ष मनोहर कुमार यादव ने संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के तैलचित्र पर माल्यर्... बाबा साहब आधुनिक भारत के शिल्पकार थे: राजेश वर्मा भीम राव अम्बेडकर की 133 वीं जयंती समारोह जिला कांग्रेस कार्यालय खगड़िया में आयोजित किया गया नहीं रहे सर्वहारा कांग्रेस के दिग्ज नेता परमानंद चौधरी,शोक का लगा तांता श्रीराम नवमी पर मर्यादापुरुषोत्तम श्री की निकाली जाएगी भव्य शोभायात्रा भीमराव अंबेडकर जी का जन्मदिन मनाया भारत रत्न बाबा साहब डा० भीमराव अम्बेडकर की जंयती मनाई भीमराव अंबेडकर जी के तैल्य चित्र पर कार्यकर्त्ताओ ने पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया लोक सभा आम निर्वाचन, 2024 के मद्देनजर छठ एवं राम नवमी पर्व के अवसर पर जिले के सभी मतदाताओं से जिला न... भोजपुरी कलाकार पवन सिंह का चुनाव लड़ना काराकाट से तय रुद्र एंटरटेनमेंट का शुभारंभ,जल्द शुरू करेंगे भोजपुरी फिल्म का निर्माण

पटना (बिहार) में २९,३०,३१ मार्च २०२४ को देश भर के साहित्यकारों का महाकुंभ लगेगा

जगदूत न्यूज पटना बिहार से सनोबर खान कि रिपोर्ट पटना (बिहार )में प्रयाग साहित्य सम्मेलन , प्रयागराज के ७५वें राष्ट्रीय अधिवेशन के साथ आयोजित होगा बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन, पटना का ४३वाँ महाधिवेशन


प्रस्तुतकर्ता – डा.बिन्देश्वर प्रसाद गुप्ता

आगामी २९,३०, ३१ मार्च को बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन में, आहूत हो रहे साहित्य सम्मेलन, प्रयाग के अमृत-महोत्सव , ७५वाँ राष्ट्रीय अधिवेशन तथा बिहार सम्मेलन के ४३वें महाधिवेशन की स्वागत समिति का गठन किया गया है।सम्मेलन की विगत् कार्य समिति की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डा. अनिल सुलभ ने, पूर्व सांसद और वरिष्ठ हिन्दी-सेवी डा. रवीन्द्र किशोर सिन्हा की अध्यक्षता में ६३ सदस्यीय स्वागत समिति गठित की है, जिसमें ३३उपाध्यक्ष और २१ महासचिव बनाए गए हैं।पटना में लग रहे तीन दिवसीय इस साहित्यिक महाकुंभ के अतिथि साहित्यकारों के सम्मान और सुविधाओं के लिए यह समिति सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करेगी।महोत्सव में उद्घाटन और समापन-सह-अलंकरण समारोह के अतिरिक्त ६ वैचारिक सत्र,एक विराट-कवि-सम्मेलन तथा रात्रि में सांस्कृतिक-कार्यक्रम आयोजित होंगे।स्वागत-समिति की संरचना इस प्रकार गठित की गई है- डा. रवीन्द्र किशोर सिन्हा, पूर्व सांसद (अध्यक्ष), पद्मश्री विमल कुमार जैन, पारिजात सौरभ, सरदार महेन्दर पाल सिंह ढिल्लन, डा. मेहता नगेंद्र सिंह, डा. बिन्देश्वर प्रसाद गुप्ता , ई. अवध बिहारी सिंह, प्रो. लक्ष्मी सिंह, रत्ना सिन्हा, अभिजीत कश्यप, आचार्य विजय गुंजन, सुनील कुमार उपाध्याय, शुभचंद्र सिन्हा, डा. पंकज पाण्डेय, डा. सीमा रानी, डा. सुमेधा पाठक, डा. पंकज कुमार ‘बसंत’, ज्ञानेश्वर शर्मा, परवेज़ आलम , संजय शुक्ला, कमल किशोर ‘कमल’ , सदानन्द प्रसाद, डा. सीमा यादव, मधु रानी लाल, डा. सुधा सिन्हा, इन्दु उपाध्याय, प्रेमलता सिंह राजपुत, अभय सिन्हा, डा. पंकज वासिनी, अंबरीष कांत, राजेश भट्ट, डा. अर्चना सिन्हा, चितरंजन लाल भारती, अरुण कुमार श्रीवास्तव, (सभी उपाध्यक्ष), वंदना वीथिका, शशि भूषण कुमार, ब्रह्मानन्द पाण्डेय, मुकेश कुमार , आनन्द मोहन झा, डा. पूनम देवा,अभिलाषा कुमारी, संजू शरण, नीलू अग्रवाल, श्वेता ग़ज़ल, अप्सरा मिश्र, नीरव समदर्शी, लता प्रासर, संजीव मिश्र, मोईन गिरीडीहवी,डा आर प्रवेश, तलअत परवीन, डा पुरुषोत्तम कुमार, श्रीकांत व्यास, अंकेश कुमार , डा. रेखा भारती मिश्र, डा सुषमा कुमारी ( सभी महासचिव), डा. कुंदन लोहानी, पंकज प्रियम,शिवानन्द गिरि, सतीश कुमार राजू, नेहाल कुमार सिंह ‘निर्मल’, अमित कुमार सिंह, रोहित कुमार, राजेश राज (सभी सचिव)।उल्लेखनीय है कि, इस बार पहली बार बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन ,पटना के वार्षिक अधिवेशन के साथ प्रयाग हिंदी साहित्य सम्मेलन, प्रयागराज का अमृत महोत्सव राष्ट्रीय अधिवेशन संयुक्त रूप से आयोजित करने का निर्णय किया गया है, जिससे देश भर के साहित्यकारों का जमघट एक स्थान पर होकर पूरे देश भर में साहित्यकारों की वृहद रूप में एकजुटता से ली गई अनुशंसा का सकारात्मक , सोद्देश्यपूर्ण ,सार्थक संदेश प्रचारित व प्रसारित हो सकेगा और यह वृहद भव्य आयोजन एक मील का पत्थर साबित होगा, यदि कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

प्रस्तुतकर्ता- डा. बिन्देश्वर प्रसाद गुप्ता


Prabhu Jee
Prabhu Jeehttp://www.jagdoot.in
ब्यूरो चीफ, खगड़िया (जगदूत न्यूज)
सम्बंधित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here


रिपोर्टर की अन्य खबरें


नई खबरें